28 Jun 2022, 18:2 HRS IST
  • बिहार विधानसभा सत्र: राजद का बेरोजगारी के मुद्दे पर हंगामा
    बिहार विधानसभा सत्र: राजद का बेरोजगारी के मुद्दे पर हंगामा
    जीएसटी परिषद की चंडीगढ़ में बैठक
    जीएसटी परिषद की चंडीगढ़ में बैठक
    अमरनाथ यात्रा के पंजीकरण के लिए लगी लंबी कतार
    अमरनाथ यात्रा के पंजीकरण के लिए लगी लंबी कतार
    मुंबई में आवासीय इमारत ढही
    मुंबई में आवासीय इमारत ढही
PTI
PTI
Select
खबर
Skip Navigation Linksहोम खेल
login
  • सबस्क्राइबर
  • यूज़र नाम
  • पासवर्ड   
  • याद रखें
ad
add
add
  • भारतीय खिलाड़ी रूमेली धर ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लिया

  • विज्ञापन
  • [ - ] फ़ॉन्ट का आकार [ + ]
पीटीआई-भाषा संवाददाता 15:37 HRS IST

मुंबई, 22 जून (भाषा) भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान रूमेली धर ने बुधवार को खेल के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा की।

दाएं हाथ की बल्लेबाज और तेज गेंदबाज रूमेली ने इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिए अपने फैसले की घोषणा की।

रूमेली ने अपनी पोस्ट में कहा, ‘‘पश्चिम बंगाल के श्यामनगर से शुरू हुआ क्रिकेट का मेरा 23 साल का सफर अंतत: खत्म हो रहा है, मैं क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा करती हूं।’’



रूमेली ने चार महिला टेस्ट में एक अर्धशतक की मदद से 236 रन बनाए। नयी दिल्ली में 2005 में इंग्लैंड के खिलाफ पदार्पण करने वाली 38 साल की रूमेली ने आठ टेस्ट विकेट चटकाए। उन्होंने अपना अंतिम टेस्ट 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ ही खेला था।

रूमेली ने 78 महिला एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में 961 रन बनाने के अलावा 63 विकेट झटके। उन्होंने 2003 में इंग्लैंड के खिलाफ लिंकन में पदार्पण करने के बाद छह अर्धशतक जड़े। उन्होंने अपना अंतिम एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मुकाबला 2012 में खेला था।

बंगाल सहित अन्य घरेलू टीम की ओर से खेलने वाली रूमेली ने 18 टी20 मुकाबले भी खेले जिसमें उन्होंने 131 रन बनाने के अलावा 13 विकेट भी चटकाए। उन्होंने 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ पदार्पण किया।

रूमेली ने 2018 में 34 साल की उम्र में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत की टी20 टीम में वापसी की और उसी साल ब्रेबोर्न स्टेडियम में आस्ट्रेलिया की महिला टीम के खिलाफ अपना अंतिम टी20 मैच खेला।

रूमेली 2005 में दक्षिण अफ्रीका में महिला एकदिवसीय विश्व कप के फाइनल में पहुंची भारतीय टीम की सदस्य भी थी।

रूमेली ने कहा, ‘‘यात्रा काफी लंबी रही जिसमें उतार-चढ़ाव देखने को मिले। शीर्ष लम्हा भारतीय महिला क्रिकेट टीम का प्रतिनिधित्व और अगुआई करना रहा जो 2005 में विश्व कप फाइनल में पहुंची। ’’

रूमेली के अनुसार उनका करियर चोटों से प्रभावित किया लेकिन उन्होंने हमेशा मजबूत वापसी की।

इस आलराउंडर ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड, अपने परिवार, मित्रों और उन सभी टीमों को धन्यवाद दिया जिनका उन्होंने प्रतिनिधित्व किया। रूमेली बंगाल के अलावा रेलवे, एयर इंडिया, दिल्ली और राजस्थान की ओर से खेली।

रूमेली ने वादा किया कि वह खेल से जुड़ी रहेंगी और देश में युवा प्रतिभाओं को निखारने में मदद करेंगी।

  • अपनी टिप्पणी पोस्ट करे ।